Samachar Live
स्वस्थ जीवन

सर्दी जुकाम से लड़ने के लिए 6 घरेलू उपाय

मौसम में बदलाव होते ही सर्दी-जुकाम होना आम बात है। यह ऐसी आम बीमारी है, जो किसी को भी हो सकती है। अमूमन सर्दी-जुकाम कुछ दिनों में अपने आप ठीक हो जाता है, लेकिन कुछ मामलों में यह लंबे समय तक रह सकता है। इस स्थिति में कई लोग दवा लेते हैं, जिससे जुकाम ठीक तो हो जाता है, लेकिन उसके फिर से होने की आशंका बनी रहती है। कई बार तो जुकाम साइनस तक का कारण बन जाता है। ऐसे में अगर आप सर्दी जुकाम का इलाज घरेलू तरीकों से करते हैं, तो आपको जल्द राहत मिलेगी। साथ ही इसके फिर से होने की आशंका भी कम हो जाती है।

सर्दी जुकाम के कारण:

1.यह संक्रामक रोग है, जो कोरोना वायरस के कारण होता है ।
2.संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी सर्दी-जुकाम हो सकता है।
3.संक्रमित व्यक्ति के छींकने से हवा में फैले जीवाणुओं के संपर्क में आने से।
4.प्रभावित व्यक्ति ने जिन चीजों को छुआ है, उन्हें छूने से भी सर्दी-जुकाम हो सकता है।
5.मौसम में बदलाव होने पर भी कुछ लोगों को सर्दी-जुकाम हो सकता है।
6.प्रतिरक्षा प्रणाली के कमजोर होने पर आप जल्द ही इस बीमारी की चपेट में आ सकते हैं।
7.ठंड लगने या गीले होने पर भी सर्दी-जुकाम हो सकता है।
नमक वाले पानी से गरारे:

• नमक और निवाये पानी से गरारे करने से गले में मौजूद गंदगी पूरी तरह साफ़ हो जाती है| इस तरह के पानी से कुल्ले करने से मुंह की भी पूरी तरह से सफाई हो जाती है| यह एक तरह से माउथ वाश का काम करता है|

• अगर गले में सर्दी-जुकाम, खराश, या किसी भी अन्य कारण से दर्द हो रहा हो, तो नमक और निवाये पानी से गरारे करने पर गले के दर्द में राहत मिलती है| ऐसा करने की सलाह डॉक्टर भी देते हैं| नमक और निवाये पानी से गले के अंदर सूजे हुए टिशूज़ की सिंकाई हो जाती है और बैक्टीरिया भी नष्ट होते हैं| टॉन्सिल्स की समस्या होने पर इस तरह से गरारे करने से तुरंत राहत मिलती है|

नमक और निवाये पानी से गरारे करने से आवाज़ भी सुरीली होती है जल्दी लाभ के लिए कम से कम २-४ बार मतलब कुछ घंटो के अंतराल पर या सुबह-शाम गरारे करने चाहिए

अगर सर्दी हो नाक बंद हो मतलब किसी भी तरह का नैजल कंजेशन हो तो नमक और निवाये पानी से बार-बार गरारे करने पर राहत मिलती है और नाक खुल जाती है अगर साईनस से संबंधित परेशानियाँ हों तो भी इस तरह से गरारे करना बेहद लाभदायक है

काली मिर्च:

1.½ चम्मच ताजी काली मिर्च का पाउडर

2.एक गिलास हल्का गुनगुना पानी

3.पानी में काली मिर्च के पाउडर को अच्छी तरह मिक्स कर लें। फिर इसे छान लें।

अब इस मिश्रण को पी जाएं।

पानी के साथ काली मिर्च का सेवन करने से गले में बलगम बनना कम हो जाता है। साथ ही बार-बार छींक आने की समस्या भी कुछ हद तक कम हो सकती है। इतना ही नहीं इस मिश्रण को पीने से गले में हो रहा दर्द कम हो सकता है। साथ ही खांसी से भी राहत मिलती है। सर्दी जुकाम की दवा के तौर पर आप इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

अदरक:

1.एक इंच लंबा अदरक का टुकड़ा

2.एक कप गर्म पानी

3.एक चम्मच शहद

पहले अदरक को कूट लें और फिर कुछ मिनटों के लिए गर्म पानी में डालकर छोड़ दें।

इसके बाद पानी को छानकर उसमें शहद डालकर मिक्स कर लें।

अब इस अदरक की चाय का आनंद लें।

जुकाम होने पर अदरक का सेवन करने से काफी आराम मिलता है। आयुर्वेद में भी इसे गुणकारी औषधि माना गया है। अदरक की चाय पीने से शरीर को गरमाहट मिलती है जिससे सर्दी का असर कम होता है। अदरक से बंद नाक को भी खोलने में आसानी होती है। अदरक में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं । अदरक को जुकाम का देसी इलाज माना गया है।

लहसुन:

हमारे घरों में लहसुन का प्रयोग खाना बनाने में किया जाता है। पर क्‍या आप जानते हैं कि लहसुन के प्रयोग से आप सर्दी-जुखाम की पल भर में छुट्टी भी कर सकते हैं? लहसुन सर्दी-जुकाम से लड़ने में काफी मददगार होता है। लहसुन में एलिसिन नामक एक रसायण होता है जो एंडी बैक्टेरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल होता है। अगर आपको बदलते मौसम की वजह से सर्दी जुखाम या गले में खराश हो गई है तो नीचे दिये हुए लहसुन के इन प्रयोगों से इसका इलाज संभव है।

एक लहसुन को कूंच लीजिये और उसे मुंह में डाल कर १५ मिनट तक के लिये धीरे धीरे चूसिये। इसके अलावा हर ४ घंटे में एक या दो ताजी लहसुन की कली खाएं।

शहद:

1.एक चम्मच कच्चा शहद

आप शहद का सेवन ऐसे ही कर सकते हैं। इसके अलावा, रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में शहद को मिक्स करके भी पी सकते हैं।

शहद में एंटीवायरल, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट जैसे कई गुण पाए जाते हैं। यह सर्दी-जुकाम से लड़ने और गले की खराश को ठीक करने में सक्षम है। इसका एंटीऑक्सीडेंट गुण इम्यून सिस्टम को बेहतर करता है और जुकाम का कारण बनने वाले वायरस को जड़ से मिटाने में मदद करता है। बेहतर और जल्दी लाभ पाने के लिए आप कच्चे या फिर ऑर्गेनिक शहद का प्रयोग करें। जुकाम के घरेलू उपाय के तौर पर शहद का प्रयोग जरूर करें। इसे जुकाम का देसी इलाज माना गया है।

ग्रीन टी:

1.एक ग्रीन टी बैग

2.एक कप गर्म पानी

3.शहद

4.नींबू का रस

ग्रीन टी बैग को कुछ देर के लिए गर्म पानी में डालकर छोड़ दें।

बाद में इसमें स्वादानुसार शहद और नींबू का रस मिलाकर इसका सेवन करें।

कई वैज्ञानिक अध्ययनों में कहा गया है कि जुकाम होने पर अगर गर्म पेय पदार्थ का सेवन किया जाए, तो काफी आराम मिलता है। थकावट, बंद नाक और गले में खराश कुछ हद तक ठीक होती है । स्वास्थ्य के लिहाज से ग्रीन टी फायदेमंद है। जुकाम में भी इसे पीने से कई लाभ मिल सकते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक होती है, जिस कारण से ग्रीन टी जुकाम से उबरने में मदद कर सकती है । सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार करने लिए आप ग्रीन टी को आजमा कर देखें।


Must Read

केले के १० चौंका देने वाले फायदे

Aarti Gupta

ऐसे बच्चों में होता हैं ऑटिज्म का ज्यादा खतरा, जानें- क्या हैं लक्षण

Aarti Gupta

त्वचा बालों और स्वास्थ्य के लिए आम के १० अद्भुत फायदे

Aarti Gupta

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More