Samachar Live
  • Home
  • मनोरंजन
  • शर्मिला टैगोर : मीडिया का कवरेज तैमूर के लिए सही नहीं
मनोरंजन

शर्मिला टैगोर : मीडिया का कवरेज तैमूर के लिए सही नहीं

अभिनेत्री शर्मिला टैगोर, जो तैमूर अली खान की दादी हैं, जो हमेशा पापराज़ी के झुंड से घिरी रहती हैं, उन्हें लगता है कि अगर आप पापराज़ी को नहीं हरा सकते हैं, तो आपको उनसे जुड़ना चाहिए, लेकिन उन्हें यह भी लगता है कि मीडिया का अत्यधिक कवरेज उनके पोते के लिए अच्छा नहीं है। वह इन सब के लिए बहुत छोटा है।
शर्मिला टैगोर ने रविवार को मुंबई के हैलो में ‘हॉल ऑफ़ फ़ेम अवार्ड्स 2019’ के दौरान मीडिया के साथ बातचीत की।
जब टैगोर से पूछा गया कि उनके पोते तैमूर अली खान पापराज़ी से हर समय घिरे रहते हैं, तो उन्होंने कहा, “मैं कुछ नहीं सोचती लेकिन मुझे लगता है कि हमें इसके साथ ही रहना होगा। यह सोशल मीडिया का युग है। मैं बहुत पुराने जमाने की हूं और मुझे नहीं लगता कि बच्चों को इस सब से अवगत कराया जाना चाहिए, लेकिन मैंने सारा से सीखा है  कि यदि आप उन्हें हरा नहीं सकते हैं तो उनसे ही जुड़ जाये। ”
तैमूर अली खान जिसकी तस्वीर आप हर रोज़ अखबारों में देखेंगे, जब टैगोर से पूछा गया कि वह एक बच्चे की दादी के रूप में इसके बारे में क्या सोचती हैं, तो उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि मुझे इसके बारे में खुश होना चाहिए लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह बच्चे के लिए बहुत अच्छा है। ”
हेलो में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्राप्त करते हुए अपनी भावना को साझा करते हुए ‘हॉल ऑफ़ फ़ेम अवार्ड्स 2019’ टैगोर ने कहा, “मुझे लगता है कि यह एक महान सम्मान है। यह बहुत प्रतिष्ठित मीडिया हाउस से एक मान्यता है, इसलिए मैं उनसे पुरस्कार प्राप्त कर बहुत सम्मानित महसूस कर रही हूं। मुझे लगता है कि वे मुझे इस फिल्म उद्योग में कई वर्षों तक काम करने के लिए पुरस्कार दे रहे हैं।
शर्मिला टैगोर ने ‘आराधना’, ‘कश्मीर की कली’, ‘चुपके चुपके’, ‘अमर प्रेम’ जैसी कई सफल फिल्मों में काम किया है।
जब टैगोर से पूछा गया कि उनके अनुसार फिल्मी करियर का यादगार पल क्या है, तो उन्होंने कहा, “एक यादगार अवसर नहीं होता है, बल्कि एक पल में ही बहुत सी यादें होती है। जिन भी फिल्मों में मैंने काम किया है वे सभी मेरी पसंदीदा फिल्में हैं। यह मेरे बच्चों की तरह है, जैसे आपके पास एक पसंदीदा बच्चा नहीं हो सकता है, इसलिए मैं इसे संक्षेप में नहीं बता सकती, शायद मैं इसे अपने संस्मरणों में हर दिन लिखती हूं। “

Related posts

‘मोतीचूर चकनाचूर’ के निर्माता ने सुनील शेट्टी को मिला लीगल नोटिस

कंचना ३ का ट्रेलर देखें -डरावना और रोमांचकारी सवारी

करुणा केळकर

आलिया भट्ट : एक अद्भुत यात्रा , इंस्टाग्राम पे ३० मिलियन फॉलोवर्स

करुणा केळकर

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy